SUKHAD YOJANA: झारखंड मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना: सूखा राहत योजना झारखंड

5
(1)

SUKHAD YOJANA: झारखंड मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना: सूखा राहत योजना राज्य के 30 लाख किसान परिवारों को वित्तीय सहायता प्रदान करने के लिए मुख्यमंत्री सूखा राहत योजना शुरू की गई। 29 अक्टूबर 2018 को, झारखंड के मुख्यमंत्री श्री हेमंत सारेन ने राज्य के 22 जिलों के 226 ब्लॉकों को सूखा प्रभावित क्षेत्र घोषित किया। राज्य के इन सभी इलाकों में किसान सूखे के कारण ज्यादातर समय फसल का उत्पादन नहीं कर पाते हैं.

सुखाड़ राहत योजना मुख्यमंत्री

फिलहाल देवघर जिले के 1,67,098 किसानों की सूची बैंक को भेजी गयी है, जिसमें से 1,03,757 किसानों को 49 करोड़ रुपये की वित्तीय सहायता दी गयी है. इस प्रकार धीरे-धीरे प्रत्येक जिले के किसानों को 3,500 रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान की जा रही है।

झारखंड मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना

यह भी पढ़ें  

SUKHAD YOJANA:मुख्यमंत्री सूखा राहत योजना उद्देश्य मुख्यमंत्री दुख राहत योजना उद्देश्य

झारखंड सरकार की योजना मुख्यमंत्री सूखा राहत योजना के कई उद्देश्य हैं, जिनकी चर्चा हमने नीचे की है:

  • इस योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य झारखंड राज्य के प्रत्येक किसान परिवार को वित्तीय सहायता प्रदान करना है जिनकी फसलें सूखे से प्रभावित हुई हैं।
  • झारखंड राज्य सरकार उन किसानों को 3,500 रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान करेगी जिनकी फसलें सूखे के कारण नष्ट हो गई हैं।
  • इस योजना को शुरू करके राज्य सरकार राज्य के लगभग 30 लाख किसानों को इस योजना का लाभ प्रदान करेगी, जिससे वे सभी किसान आत्मनिर्भर बनेंगे और उनकी आर्थिक स्थिति में कुछ हद तक सुधार होगा।

SUKHAD YOJANA:मुख्यमंत्री सूखा [सुखाड़ ] राहत योजना आधिकारिक वेबसाइट व अन्य जानकारी

योजना का नामSUKHAD YOJANA:मुख्यमंत्री सूखा [सुखाड़ ] राहत योजना
किसने इसकी शुरवात की हैंझारखण्ड सरकार
उद्देश्यझारखडं के सूखाग्रस्त समस्या से पीड़ित किसान की मदद करना 
क्या हैं लाभआर्थिक सहायता 3500 रुपये की 
बजट890 करोड़ की होंगी 
ऑफिसियल वेबसाइटयहाँ क्लिक करें
हेल्पलाइन नंबर  18001231136 
SUKHAD YOJANA:मुख्यमंत्री सूखा [सुखाड़ ] राहत योजना [PDF]यहाँ क्लिक करें

मुख्यमंत्री सूखा राहत योजना के लाभार्थी। मुख्यमंत्री दुख राहत योजना लाभार्थी

सबसे पहले हमने बताया कि झारखंड के मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सारेन ने राज्य के 22 जिलों में से 226 ब्लॉकों को सूखा प्रभावित क्षेत्र घोषित किया है, जिसका मतलब है कि उन क्षेत्रों के हर किसान इस योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं और इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकते हैं। प्राप्त कर सकते हैं।

मुख्यमंत्री सूखा राहत योजना पात्रता मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना पात्रता मानदंड

झारखंड मुख्यमंत्री सूखा राहत योजना के लिए आवेदन करने के लिए कुछ योग्यताएं हैं जिनके बारे में हमने नीचे चर्चा की है:

  • योजना के लिए आवेदन करने और लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदक को झारखंड राज्य का स्थायी निवासी होना चाहिए।
  • झारखंड राज्य के जिलों के वे सभी किसान परिवार जिनकी फसलें सूखे के कारण नष्ट हो गई हैं, इस योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं।
  • इस योजना के लिए आवेदन करने से पहले आवेदक किसी अन्य बीमा योजना का लाभार्थी नहीं होना चाहिए।

मुख्यमंत्री सूखा राहत योजना आवेदन प्रक्रिया मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना आवेदन प्रक्रिया

झारखंड मुख्यमंत्री सूखा राहत योजना के लिए आवेदन करने के लिए नीचे दिए गए चरणों का ध्यानपूर्वक पालन करें:

SUKHAD YOJANA
SUKHAD YOJANA
  • स्टेप 1:सबसे पहले अगर आप इस योजना के लिए आवेदन करना चाहते हैं तो आपको झारखंड राज्य मुख्यमंत्री सूखा राहत योजना की आधिकारिक वेबसाइट https://msry.jharhand.gov.in/ इस लिंक पर जाकर पहुंचना होगा।
  • चरण दो: होमपेज पर आने के बाद अब आप पेज को थोड़ा नीचे की ओर ले जाएंगे तो आपको हरा रंग दिखाई देगा। पंजीकरण करवाना ऑप्शन दिखाई देगा आपको उस पर क्लिक करना है।
  • चरण 3: रजिस्टर विकल्प पर क्लिक करने के बाद एक सीएससी पोर्टल खुलेगा, इसके लिए आपको अपने नजदीकी किसी भी सीएससी सेंटर पर जाना होगा।
  • चरण 4: इसके अलावा आपको जरूरी दस्तावेज भी अपने पास रखने होंगे.
  • चरण 5: सीएससी केंद्र पर आपका आवेदन पूरा होने पर आपको एक रसीद प्राप्त होगी। आपको भविष्य के संदर्भ के लिए वह रसीद अपने पास रखनी चाहिए।

मुख्यमंत्री सुख राहत योजना की आधिकारिक वेबसाइट

मुख्यमंत्री सूखा राहत योजना की स्थिति कैसे जांचें

यदि आप झारखंड राज्य के उन सभी प्रखंडों एवं ग्राम पंचायतों के निवासी हैं, जिन्हें चालू वित्तीय वर्ष के लिए झारखंड सरकार द्वारा सूखाग्रस्त घोषित किया गया है। मुख्यमंत्री सूखा राहत योजना योजना की आवेदन स्थिति कैसे जांचें? जानिए हमने क्या चर्चा की है बहुत ही सरलता से.

महत्वपूर्ण सूचना

ख़रीफ़ 2023 फसल के लिए राज्य सरकार ने राज्य के 158 ब्लॉकों में सूखा घोषित किया था, जिसके लिए प्रत्येक किसान को 3500 रुपये की वित्तीय सहायता दी जाएगी।
2023 में झारखण्ड मुख्यमंत्री सूखा राहत योजना इसके तहत कोई आवेदन नहीं लिया गया, बल्कि किसानों को झारखंड भेज दिया गया फसल राहत योजना के लिए आवेदन करने का अवसर दिया गया। तो वे सभी किसान जिन्होंने फसल राहत योजना के लिए आवेदन किया है और जिनका क्षेत्र वर्तमान में सूखा क्षेत्र के रूप में पहचाना गया है, उन्हें झारखंड फसल राहत योजना से मुख्यमंत्री सूखा राहत योजना का लाभ मिलेगा।

  • जैसा कि मैंने कहा, आप झारखंड सूखा योजना की स्थिति झारखंड फसल राहत योजना की वेबसाइट से जांच सकते हैं, इसे जांचने के लिए आपको नीचे दिए गए चरणों का पालन करना होगा।
  • स्टेप 1: सबसे पहले आपको झारखंड फसल राहत योजना की आधिकारिक वेबसाइट https://jrfry.jharhand.gov.in/ पर जाना होगा।
  • चरण दो: आधिकारिक वेबसाइट के मेनू बार से किसान लॉगिन विकल्प पर क्लिक करें।
  • चरण 3:अब आपके सामने जो पेज खुलेगा उसमें सबसे पहले बॉक्स में काटना मौसम चुनना। दूसरे डिब्बे में मोबाइल नंबर प्रवेश करना। तीसरे डिब्बे में पासवर्ड प्रवेश करना। और चौथे डिब्बे में कॅप्चा दर्ज करें और लॉग इन करें विकल्प पर क्लिक करें.
image 2024 03 27T122816.425 1024x456 1
मुख्यमंत्री सूखा राहत योजना की स्थिति जांचें

चरण 4: अब आपके सामने आपका डैशबोर्ड खुल जाएगा जहां से आप आसानी से स्टेटस चेक कर सकते हैं।


फसल बीमा का पैसा कब मिलेगा 2024?

वर्ष 2024 की बात करें तो सरकार लगभग 3000 करोड रुपए किसानों के अकाउंट में जल्द ही भेजने वाली है। चुनाव से पहले किसानों को अपने अकाउंट में फसल बीमा की राशि निश्चित रूप से मिल जाएगी । अकाउंट में आने वाली इस राशि के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए किसान आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर सूची में अपना नाम भी देख सकते हैं ।

फसल बीमा योजना की लिस्ट में अपना नाम कैसे देखें?पीएम फसल बीमा योजना सूची में नाम कैसे चेक करे?

 सबसे पहले ऑफिशल वेबसाइट pmfby.gov.in पर जाना होगा।वहाँ होमपेज पर “लाभार्थी सूची” का विकल्प प्रदर्शित होगा, जिस पर क्लिक करना है

सुखाड़ का लिस्ट कैसे चेक करें?

सबसे पहले ऑफिशल वेबसाइट https://jrfry.jharkhand.gov.in/ पर जाएं.

  1. इसके बाद “किसान लॉगिन करें” पर क्लिक करें.
  2. फिर फसल मौसम का चयन करे,
  3. इसके बाद अपने मोबाइल नंबर या आधार नंबर में से कोई एक दर्ज करें.
  4. इसके बाद पासवर्ड दर्ज करें दर्ज करें अंतिम में कॅप्चा भरकर लॉगिन करें.

झारखंड फसल राहत योजना के तहत झारखंड सरकार कितना मुआवजा देगी?

 30 से 50 फीसदी तक फसल खराब होने पर सरकार 3000 रुपये प्रति एकड़ मुआवजा देगी.जबकि 50 फीसदी से ज्यादा फसल बर्बाद होने पर किसानों को प्रति एकड़ 5000 रुपये का मुआवजा दिया जाएगा

झारखंड का सबसे सूखा प्रभावित जिला कौन सा है?

झारखंड में सूखे की मार सबसे अधिक संथाल परगना और पलामू प्रमंडल में आने वाले जिलों पर पड़ती है, क्योंकि इस क्षेत्र के किसानों की आय का एकमात्र साधन कृषि ही है।

Farmer

FAQ: मुख्यमंत्री सूखा राहत योजना से संबंधित प्रश्न

सूखे का पैसा कैसे चेक करें?

सूखे का पैसा चेक करने के लिए सबसे पहले झारखंड फसल योजना की आधिकारिक वेबसाइट खोलें और किसान लॉगिन विकल्प पर क्लिक करें। लॉग इन करने के बाद क्रॉप मशरूम, मोबाइल नंबर, पासवर्ड, कैप्चा डालकर आप सूखा पैसा चेक कर सकते हैं।

सूखे के लिए आपको कितना पैसा मिलता है?

झारखंड राज्य के 22 जिलों (पूर्वी सिंहभूम एवं सिमडेगा को छोड़कर) के 226 प्रखंडों को सूखा प्रभावित घोषित किया गया है. सूखे की स्थिति को देखते हुए 22 जिलों के 226 प्रखंडों में किसान परिवारों को तत्काल राहत. सूखा राहत हेतु 3500 रूपये की राशि (अग्रिम) दी जायेगी।

झारखंड को कब मिलेगी सूखा राहत राशि?

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, 1 मार्च 2024 को झारखंड के कृषि मंत्री ने सदन में घोषणा की थी कि किसानों को अगले तीन महीने के अंदर सूखे का पैसा दिया जाएगा.

सुखाड़ का लिस्ट कैसे चेक करें?

सबसे पहले ऑफिशल वेबसाइट https://jrfry.jharkhand.gov.in/ पर जाएं.
इसके बाद “किसान लॉगिन करें” पर क्लिक करें.
फिर फसल मौसम का चयन करे,
इसके बाद अपने मोबाइल नंबर या आधार नंबर में से कोई एक दर्ज करें.
इसके बाद पासवर्ड दर्ज करें दर्ज करें अंतिम में कॅप्चा भरकर लॉगिन करें.

झारखंड फसल राहत योजना का फॉर्म कैसे भरें?

सबसे पहले चरण में आपको झारखंड राज्य फसल राहत योजना की आधिकारिक वेबसाइट (https://jrfry.jharhand.gov.in/) पर जाना होगा। वेबसाइट खोलने के बाद आपको “किसान पंजीकरण” पर क्लिक करना होगा। अब आपको झारखंड राज्य फसल राहत योजना पंजीकरण फॉर्म के नए पेज पर निर्देशित किया जाएगा।


केंद्र सरकार के द्वारा झारखंड में सूखा राहत के लिए कितने सहायता राशि दी जाएगी?

 झारखंड राज्य के 22 जिलों (पूर्वी सिंहभूम एवं सिमडेगा छोड़कर) के 226 प्रखंडों को सूखाग्रस्त घोषित किया गया है | सूखे की स्थिति को देखते हुए 22 जिलों के 226 प्रखंडों के प्रति किसान परिवार को तत्काल सूखा राहत हेतु 3500 रुपए ( अग्रिम ) राशि दी जाएगी

झारखंड में कौन कौन जिला सूखा घोषित किया गया?

इसमें सात जिलों के सभी प्रखंड सूखाग्रस्त पाये गये हैं. ग्राउंड ट्रूथिंग (जमीनी स्थिति का आकलन ) के आधार पर चतरा, देवघर, धनबाद, गढ़वा, गिरिडीह, लातेहार व पलामू जिले के सभी प्रखंडों को सूखाग्रस्त घोषित किया गया है. इससे करीब 15 लाख से अधिक किसान प्रभावित हैं. इन्हे सहायता देने के लिए सरकार द्वारा निर्दिष्ट किया गया है।

झारखंड का सबसे ज्यादा सूखा प्रभावित जिला कौन सा है?

झारखंड में सूखे की मार सबसे अधिक संथाल परगना और पलामू प्रमंडल में आने वाले जिलों पर पड़ी है, क्योंकि इस क्षेत्र के किसानों की आय का एकमात्र साधन कृषि ही है।

फसल बीमा का पैसा कब मिलेगा 2024?

वर्ष 2024 की बात करें तो सरकार लगभग 3000 करोड रुपए किसानों के अकाउंट में जल्द ही भेजने वाली है। चुनाव से पहले किसानों को अपने अकाउंट में फसल बीमा की राशि निश्चित रूप से मिल जाएगी । अकाउंट में आने वाली इस राशि के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए किसान आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर सूची में अपना नाम भी देख सकते हैं ।

झारखंड की प्रति व्यक्ति आय कितनी है?

झारखंड में प्रति व्यक्ति आय 91,874 रुपए हुई,
वित्तीय वर्ष 2021-22 में वर्तमान मूल्य पर प्रति व्यक्ति आय 84,095 रुपये थी।

झारखंड के सबसे गरीब जिला कौन है?

झारखंड में 5 मंडल साथ में 24 जनपद हैं
निति आयोग की रिपोर्ट के अनुसार झारखंड का सबसे गरीब जिला है चतरा।
चतरा में 60.74 फीसदी लोग गरीब रहते हैं।
बता दें चतरा में काफी औषधिय पौधें हैं।
इन पौधों के लिए ही चतरा जाना जाता है।
यहां केंडू के पत्ते, बांस, जड़ी-बूटियां कई अन्य चीजें देखने को मिलती है।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 5 / 5. Vote count: 1

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

We are sorry that this post was not useful for you!

Let us improve this post!

Tell us how we can improve this post?

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top